मेन्यू

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

अगर स्पार्क प्लग खराब हो जाए तो क्या होगा?

 स्पार्क प्लग, वाहन के इग्निशन सिस्टम के आवश्यक कंपोनेंट में से एक है. दहन के उच्च वोल्टेज और कोरोसिव ऑक्सीडाइज़ेशन के बार-बार डिस्चार्ज होने के कारण स्पार्क प्लग के इलेक्ट्रोड घिस जाते हैं, जिससे प्लग का गैप धीरे-धीरे बढ़ने लगता है.
आम तौर पर, हर 12000 km पूरे करने के बाद स्पार्क प्लग बदलने की सलाह दी जाती है, क्योंकि इतने समय तक उपयोग होने के बाद वह खराब हो जाता है. स्पार्क प्लग को लंबे समय तक उपयोग करते रहने से, वाहन को स्टार्ट करने में परेशानी होने लगती है, इंजन चालू नहीं होता है, पावर की कमी हो जाती है, फ्यूल की अधिक खपत होने लगती है और उत्सर्जन शुरू हो जाता है. कुछ मामलों में, आपके पास सिर्फ इसे बदलने का ही विकल्प रह जाता है.
HGP स्पार्क प्लग, आपके हीरो वाहन के लिए खास तौर पर डिज़ाइन किए जाते हैं, ताकि वाहन चलाने में आपको लंबे समय तक कोई परेशानी न हो. अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

मुझे एयर फिल्टर कब बदलना चाहिए?

 एयर फिल्टर, इंजन के पार्ट्स को खराब होने से बचाने के लिए, हवा में मौजूद कण और धूल को फिल्टर करता है. आमतौर पर, हवा में मौजूद कण और धूल को फिल्टर करने के कारण, यह एक निश्चित समय के बाद बंद हो जाता है.
हीरो मोटोकॉर्प के वाहनों में, मूल रूप से पॉलीयुरेथेन वेट टाइप, ड्राई पेपर और विस्कस पेपर टाइप जैसे तीन अलग-अलग प्रकार के एयर फिल्टर होते हैं. इसमें, पॉलीयुरेथेन और ड्राई पेपर फिल्टर की समय-समय पर सफाई करने की ज़रूरत होती है. इसके अलावा, पॉलीयुरेथेन फिल्टर को सिर्फ तब ही बदलने की आवश्यकता होती है, जब वह क्षतिग्रस्त हो जाए, वहीं दूसरी तरफ ड्राई पेपर फिल्टर को हर 12000 km पूरे करने पर बदलना पड़ता है. विस्कस पेपर टाइप फिल्टर की सफाई नहीं की जा सकती, लेकिन हर 15000 km पूरे करने पर उसे बदलने की सलाह दी जाती है. अगर ज्यादा धूल-मिट्टी वाली जगह पर गाड़ी चलानी पड़ती है, तो अक्सर कम समय अंतराल में फिल्टर की सफाई करने या उसे जल्दी बदलने की सलाह दी जाती है.
अगर आप सुझाए गए शेड्यूल को फॉलो नहीं करते हैं, तो इससे इंजन की पावर व फ्यूल की क्षमता में कमी हो सकती है, और समय से पहले इंजन फेल हो सकता है. इसके परिणामस्वरूप आपको मरम्मत काफी महंगी पड़ सकती है.
अगर किसी नकली फिल्टर (ऐसा फिल्टर, जो किसी कंपनी/ब्रांड का नहीं है) का उपयोग किया जाता है, तो वाहन के फिल्टर करने की कैपेसिटी पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है. बाजार में HGP फिल्टर की तरह दिखने वाले कई सारे दूसरे फिल्टर मौजूद हैं, लेकिन उनकी क्वालिटी बेहद खराब है. इस तरह के फिल्टर सामान्य उपयोग के दौरान ही खराब हो जाते हैं, जिस वजह से फिल्टर सिकुड़ जाते हैं और उनकी सीलिंग कैपेसिटी कम हो जाती है. इंजन की सबसे बेहतरीन परफॉर्मेंस पाने और उसकी लाइफ बढ़ाने के लिए, सिर्फ HGP के असली एयर फिल्टर का ही उपयोग करें. अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

फ्यूल ट्यूब कब बदली जानी चाहिए?

 फ्यूल ट्यूब (ईंधन की नली) एक ऐसा जॉइंट है जिसके माध्यम से फ्यूल टैंक (ईंधन का टैंक) से लेकर कार्ब्यूरेटर तक फ्यूल (ईंधन) लगातार पहुंचता रहता है.
आमतौर पर, फ्यूल ट्यूब को 4 साल में बदलने की सलाह दी जाती है. हालांकि, कुछ मामलों में फ्यूल की नली को जल्दी बदलने की आवश्यकता पड़ सकती है, जैसे कि 6 महीने या उससे ज्यादा समय से इस्तेमाल न किए गए वाहन.
फ्यूल (ईंधन) का निरंतर प्रवाह आंतरिक रूप से पेट्रोल की उच्च अस्थिरता के कारण फ्यूल ट्यूब को खराब करने लगता है, जिस वजह से फ्यूल ट्यूब के जॉइंट्स से पेट्रोल लीक होना शुरू हो जाता है, और फ्यूल की महक से इस लीकेज का पता चलता है.
HGP की फ्यूल होस (ईंधन नली), कई तरह की सामग्री की परतों से बनी होती है, जिसकी अंदर की परत फ्यूल (ईंधन) की वजह से आंतरिक रूप से होने वाले नुकसान से बचाती है और बाहरी परत मौसम में होने वाले बदलावों का सामना करती है. इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि फ्यूल ट्यूब के दोनों सिरे वायर क्लिप से जुड़े हुए हों.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

अगर इंजन ऑयल नहीं बदला जाए तो क्या होगा?

 एक ही इंजन ऑयल का लगातार उपयोग करते रहने से, उसकी वाहन को 'लुब्रिकेट' और 'क्लीन' करने की क्षमता खत्म हो जाती है. जिस वजह से, उस इंजन ऑयल से इंजन को सामान्य रूप से चलाना भी असंभव हो जाता है.
आमतौर पर, इंजन ऑयल को हर 6000 km पूरे करने पर बदलना और हर 3000 km पूरे करने पर टॉप-अप करना चाहिए.
अगर ऊपर दिए गए शेड्यूल का पालन नहीं किया जाता है, तो वाहन की परफॉर्मेंस खराब हो सकती है और इंजन अधिक गर्म होने की वजह से फ्यूल की खपत बढ़ सकती है. इसके अलावा, इंजन से अजीब आवाज भी निकलना शुरू हो सकती है. कुछ मामलों में, इसकी वजह से पूरा इंजन फेल हो सकता है, जिसके परिणामस्वरूप वाहन की मरम्मत का खर्च और समय बहुत ज्यादा बढ़ सकता है.
HGP की ओर से 10W30 SJ JASO MA वाली विशेषताओं के इन इंजन ऑयल को उपयोग करने के सुझाव दिए जाते हैं:-
• एफिशिएंट लुब्रिकेटिंग, क्लीनिंग, कूलिंग और सीलिंग कैपेसिटी.
• कोल्ड स्टार्टिंग की बेहतर क्षमता
• ड्रेन पीरियड बढ़ जाता है
• पर्यावरण के अनुकूल
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

मुझे सिर्फ HGP के इंजन ऑयल का ही उपयोग करने की सलाह ही क्यों मिलती है?

 ओपन मार्केट में 10W30 के कई ग्रेड उपलब्ध हैं. लेकिन, 10W30 SJ JASO MA इंजन ऑयल की खासियत निम्नलिखित है:-
• एफिशिएंट लुब्रिकेटिंग, क्लीनिंग, कूलिंग और सीलिंग कैपेसिटी.
• कोल्ड स्टार्टिंग की बेहतर क्षमता
• ड्रेन पीरियड बढ़ जाता है
• पर्यावरण के अनुकूल
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

अगर सुझाई गई अवधि में ड्राइव चेन की सर्विसिंग नहीं होती तो क्या होगा?

 ड्राइव चेन की लाइफ इस बात पर निर्भर करती है कि वाहन का लुब्रिकेशन और एडजस्टमेंट कितने सही तरीके से किया गया है. अगर यह सही तरीके से नहीं किया गया है, तो समय से पहले इसमें खराबी आ सकती है. वाहन की परफॉर्मेंस को प्रभावित करने वाले स्प्रोकेट, ड्राइव चेन को तोड़ सकते हैं. मोटर साइकल को बेढंगे तरीके से चलाना और चेन से अजीब तरह की आवाज आना, चेन स्प्रोकेट किट को बदलने के संकेत हैं.
अगर स्प्रोकेट ज्यादा घिस जाता है, तो वाहन चलते समय ड्राइव चेन से वाहन में कंपन होगा. इससे स्प्रोकेट अपनी जगह से हिल सकता है और वाहन के कंपोनेंट को नुकसान पहुंचा सकता है, जिससे राइडर (वाहन चालक) की जान को खतरा हो सकता है. यह फ्यूल एफिशिएंसी (ईंधन दक्षता) पर भी बुरा प्रभाव डाल सकता है और ड्राइव करने की क्षमता को भी प्रभावित कर सकता है.
HGP की चेन स्प्रोकेट किट की क्वालिटी बेहतरीन है और लंबे समय तक इसकी परफॉर्मेंस को अच्छा बनाए रखने के लिए, इसकी पूरी तरह से जांच की जाती है.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

मुझे अपने स्कूटर का ड्राइव बेल्ट कब बदलना चाहिए?

 ड्राइव बेल्ट हमेशा पुली (गरारी) के संपर्क में रहती है, इसलिए अत्यधिक घिस जाने पर इसे एक निर्धारित अवधि में बदलना पड़ता है. इसके अलावा, यह फ्रिक्शन (घर्षण) के कारण ओजोन और गर्मी की वजह से कठोर बन जाती है और खराब हो जाती है, क्योंकि यह रबर से बनी होती है.
ड्राइव बेल्ट को हर 24000 km पूरे करने के बाद बदलने की सलाह दी जाती है.
ड्राइव बेल्ट के घिस जाने या कठोर होने से पावर लॉस हो सकता है, जिसकी वजह से फ्यूल कंसम्पशन (ईंधन की खपत) बढ़ सकता है.
HGP की ड्राइव बेल्ट एक कॉग्ड बेल्ट (दांतेदार बेल्ट) है जिसमें सिंथेटिक रबर और फाइबर होता है, इसे खासतौर से हाई फ्रिक्शन (उच्च घर्षण), गर्मी और ओजोन का सामना करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, ताकि राइड का अनुभव बेहतर बन सके और यह बेल्ट लंबे समय तक चल सके.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं

अगर वाहन से अजीब सी आवाज सुनाई दे और उसके ब्रेक कम काम करने लगे, तो मुझे क्या करना चाहिए?

सर्विस लिमिट समाप्त होने के बाद ब्रेक शूज़/पैड का उपयोग कम फ्रिक्शन (घर्षण) के कारण ब्रेक को कम प्रभावी बना देगा. लंबे समय तक उपयोग के कारण ब्रेक शूज़/पैड का मेटल (धातु) वाला हिस्सा ड्रम/डिस्क के संपर्क में आ जाता है और फिर खराब हो जाता है जिसके परिणामस्वरूप मरम्मत का खर्च बढ़ जाता है, साथ ही राइडर के लिए भी खतरा बढ़ जाता है.
ब्रेक लगाने में अधिक जोर लगना और अजीब तरह की आवाज आने का मतलब है कि ब्रेक शूज़, पैड, ड्रम या डिस्क को बदलने का समय आ गया है.
HGP के ब्रेक शूज़/पैड/ड्रम/डिस्क, राइडर की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सबसे बेहतरीन क्वालिटी के साथ बनाए जाते हैं. आपके हीरो 2 व्हीलर को साफ और सुरक्षित बनाने के लिए शूज़/पैड पर नॉन-एस्बेस्टस फ्रिक्शन सामग्री का उपयोग किया जाता है, ताकि इसकी मदद से आपको वाहन चलाने का सबसे अच्छा अनुभव दिया जा सके.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

अगर कैम चेन के खराब होने पर इसे नहीं बदला जाता तो क्या होगा?

बेहद ज्यादा घिसी हुई चेन, स्प्रोकेट के साथ लगातार अच्छी तरह से नहीं चल सकती. इसके परिणामस्वरूप, कैम चेन से अजीब तरह की आवाज सुनाई देगी और वाहन की परफॉर्मेंस पर भी बुरा असर पड़ेगा. कुछ मामलों में चेन टूट भी सकती है, जिससे इंजन को बहुत ज्यादा नुकसान और राइडर (चालक) की जान को खतरा हो सकता है.
HGP की कैम चेन किट को खासतौर पर, इंजन के चलते समय उस पर पड़ने वाले उच्चतम दबाव का सामना करने के लिए डिज़ाइन किया गया है. इसकी मदद से, इंजन की कार्यक्षमता भी बढ़ती है. अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

मेरी मोटरसाइकिल का पिक-अप अच्छा नहीं है. क्या इसमें क्लच फ्रिक्शन डिस्क बदलने की आवश्यकता है?

फ्रिक्शन डिस्क आमतौर पर एल्यूमीनियम प्लेट से बनी होती है, जिन पर फ्रिक्शन की सामग्री चिपकाई जाती है. फ्रिक्शन डिस्क, क्लच प्लेट के साथ फ्रिक्शन फोर्स (घर्षण बल) के जरिए इंजन में पावर ट्रांसमिट करती है.
CFD (क्लच फ्रिक्शन डिस्क) एक निश्चित अवधि के बाद घिसने लग जाती है, और जब वह ज़रूरत से ज्यादा घिस जाए, यानी उसकी सर्विस न की जा सके, तो उसे बदल देना चाहिए. CFD के घिस जाने की पहली निशानी यह है कि जब आप अपनी बाइक/स्कूटी को किक स्टार्ट करते हैं, तब किक स्लिप होने लगती है, इसका मतलब है कि किक से स्टार्ट होने वाले वाहन (इसमें 100cc और 125cc की कैटेगरी वाले सभी मॉडल शामिल हैं) में किक के जरिए पावर सही तरीके से प्रवाहित नहीं होती है.
किसी घिसे हुए CFD का उपयोग करने के परिणामस्वरूप क्लच स्लिप हो सकता है, जिससे इंजन की ओवरहीटिंग, पावर की कमी और फ्यूल कंसम्पशन (ईंधन की खपत) में तेजी से वृद्धि हो सकती है. इसके अलावा, CFD वाहन के अन्य पार्ट्स जैसे क्लच प्लेट और प्रेशर प्लेट को भी नुकसान पहुंचा सकती है.
HGP की क्लच फ्रिक्शन डिस्क सबसे बेहतरीन सामग्री से बनी होती है, इसमें एस्बेस्टस का उपयोग नहीं किया जाता है. इस वजह से, यह हाई फ्रिक्शन फॉर्स की परेशानी के साथ-साथ गर्मी की समस्या का भी कुशलता से सामना कर सकती है. इसके अलावा, इसमें एस्बेस्टस मौजूद न होने के कारण यह वायु प्रदूषण को भी कम करती है. इस वजह से, इसके कंपोनेंट लंबे समय तक सर्विस करने लायक रहते हैं और उनको खराब होने से बचाया जा सकता है.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत सेवा केंद्र पर जाएं.

वाहन चलते हुए अपने आप अचानक बंद हो जाता और मेरा उसकी गति पर नियंत्रण नहीं रहता, कुछ समय से मुझे यह परेशानी हो रही है? मुझे वाहन का कौन सा पार्ट बदलने की आवश्यकता है?

थ्रॉटल केबल और लिंकेज घिस सकते हैं और लंबे समय तक इनका उपयोग करने से यह क्षतिग्रस्त हो सकते हैं. पर्यावरण के संपर्क में आने से उनमें जंग लग सकती है और वे खराब भी हो सकते हैं. थ्रॉटल के संचालन की प्रक्रिया चिपचिपी हो सकती है और इंजन को तेज़ गति से चलाने पर, थ्रॉटल के रिलीज होने के बावजूद भी थ्रॉटल वाल्व आसानी से वापस नहीं आ पाएगा.
इस तरह वाहन के अचानक रुक जाने से फ्यूल कंसम्पशन (ईंधन की खपत) में वृद्धि और इंजन में ओवरहीटिंग हो सकती है. कुछ मामलों में जब राइडर (चालक) क्लच छोड़ता है, तब वाहन से उसका कंट्रोल छूट जाता है या ऐसे वाहन की सवारी करने पर उसे जान का खतरा हो सकता है.
HGP की थ्रॉटल केबल को विशेष रूप से हीरो 2 व्हीलर के मॉडल कॉन्फिगरेशन के आधार पर डिज़ाइन किया गया है. इन केबलों को वाहन को चलाने में अच्छा अनुभव देने और लंबी अवधि तक चलने के लिए अंदर से लुब्रिकेट किया जाता है.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.
 

मेरी बाइक का गियर बदलना बहुत मुश्किल हो गया है जिसकी वजह से उसे चलाने में मुझे परेशानी हो रही है. इस समस्या का क्या कारण हो सकता है?

क्लच असेंबली क्लच के संचालन के लिए केबल का उपयोग करते हैं, इसलिए लंबे समय तक इस्तेमाल किए जाने पर वे घिस सकते हैं या क्षतिग्रस्त हो सकते हैं. जब क्लच केबल को खींचा जाता है, तो क्लच का 'फ्री-प्ले' बढ़ जाता है.
इससे क्लच के 'अलग होने की प्रक्रिया' ठीक से काम नहीं करती है, जिससे एक स्थिर पोजीशन से दूसरी पोजीशन में ले जाने के लिए गियर बदलने में दिक्कत आती है और क्लच को ताकत लगाकर खींचना पड़ता है. इसके चलते अगर केबल लिंकेज से टूट जाता है, तो वाहन अनियंत्रित हो सकता है और वाहन व सवार दोनों को क्षति पहुंच सकती है. इसलिए, समय-समय पर इनका निरीक्षण या बदला जाना बेहद अहम होता है.
एक नकली केबल (ऐसी केबल जो किसी ब्रांड या कंपनी की नहीं है) का उपयोग करने से वाहन चलाते समय वो ढीली पड़ सकती है और गियर बदलने में मुश्किल हो सकती है. इसलिए, HGP की क्लच केबल को हर मॉडल को ध्यान में रखते हुए खासतौर पर डिज़ाइन किया गया है. इसके अलावा, HGP की क्लच केबल को अंदर से लुब्रिकेट किया जाता है, जिसकी वजह वाहन चलाने में आसानी होती है और यह केबल भी लंबे समय तक चलती है.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

मुझे खराब फ्यूल स्ट्रेनर स्क्रीन को सिर्फ HGP की फ्यूल स्ट्रेनर स्क्रीन से ही क्यों बदलना चाहिए?

फ्यूल में गंदगी होने के कारण फ्यूल स्ट्रेनर स्क्रीन बंद या क्षतिग्रस्त हो सकती है. अगर फ्यूल स्ट्रेनर बंद हो जाता है, तो इस मामले में कार्ब्यूरेटर में फ्यूल पर्याप्त मात्रा में नहीं पहुंच पाता है (ऐसा खासतौर पर वाहन के तेज गति से चलने पर होता है). इसके अलावा, अगर स्ट्रेनर क्षतिग्रस्त हो जाता है और उसकी गंदगी साफ तौर से स्क्रीन/फिल्टर नहीं की गई है, तो इस मामले में कार्ब्यूरेटर के जेट्स भी बंद हो सकते हैं. दोनों ही मामलों में, एयर फ्यूल का अनुपात अलग-अलग होगा, जिसके परिणामस्वरूप मध्यम से तेज गति पर जाने में पावर कम हो जाएगी और वाहन को स्टार्ट करने में भी परेशानी होगी.
HGP की फ्यूल स्ट्रेनर स्क्रीन (ईंधन छलनी), कार्ब्यूरेटर से लेकर इंजन तक जाने वाले फ्यूल को बेहद अच्छी तरह से फिल्टर करती है. अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप में जाएं.
 

अगर ब्रेक फ्लूइड नहीं बदला जाए तो क्या होगा?

समय के साथ ब्रेक फ्लुइड, ब्रेक होस (ब्रेक नली) के माध्यम से नमी को एब्सॉर्ब करता है, और इसका बॉयलिंग पॉइंट धीरे-धीरे नीचे जाता है. एब्सॉर्ब की गई नमी "वैपर लॉक" की संभावना को बढ़ाती है, यह घटना तब होती है जब ब्रेकिंग सिस्टम में उत्पन्न होने वाली गर्मी के कारण ब्रेक फ्लुइड उबलता है और उसके बुलबुले बनने शुरू हो जाते हैं, जिसकी वजह से वाहन का ब्रेक लगाने में समस्या होने लगती है. यह ब्रेकिंग सिस्टम के आंतरिक हिस्सों में जंग लगाता है और इसके कारण वाहन को चलाने या रोकने में परेशानी हो सकती है. इसके अलावा, ब्रेक लगाने से उत्पन्न होने वाली गर्मी के कारण भी ब्रेक फ्लुइड खराब हो सकता है.
आमतौर पर, इसे 30000 km या 2 साल बाद बदल देना चाहिए. उच्चतम सुरक्षा मानकों का पालन करने के लिए, किसी सील बंद कंटेनर (DOT 3 / DOT 4) के ब्रेक फ्लुइड का ही उपयोग करें. इस बात का खास ध्यान रखें कि जैसे ही ब्रेक फ्लुइड का लेवल कम हो जाता है, उसे फिर से भर लें. कभी भी DOT 3 और DOT 4 ब्रेक फ्लुइड को एकसाथ न मिलाएं.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

पिछले कुछ दिनों से हैंडलबार को मोड़ने में परेशानी हो रही है. साथ ही, उससे कुछ अजीब आवाज भी आ रही है. कृपया मुझे बताएं कि इस समस्या का समाधान कैसे करूं?

सड़क पर वाहन चलाते समय लगने वाले झटकों से, बार-बार ब्रेक लगाने से और फ्रंट व्हील पर लोड पड़ने की वजह से स्टीयरिंग (हैंडलबार) के बेरिंग ढीले हो सकते हैं. कुछ मामलों में, वाहन के माउंटिंग सेक्शन/बेरिंग रेस क्षतिग्रस्त हो सकते हैं. इसके अलावा, पर्याप्त मात्रा में लुब्रिकेट न होने के कारण स्टीयरिंग को मोड़ने में ज्यादा मेहनत लग सकती है और उससे तेज आवाज भी आ सकती है.
HGP की बॉल रेस किट और लुब्रिकेंट, एक परेशानी मुक्त और लंबे समय तक अच्छी परफॉर्मेंस सुनिश्चित करती है. साथ ही, बेहतर लुब्रिकेशन और स्टीयरिंग कंपोनेंट को लंबे समय तक चलाने के लिए, खासतौर पर इन आइटम को उपयोग करने की सलाह देती है.
वाहन के हर 3000 km पूरे करने पर स्टीयरिंग का निरीक्षण करने और ज़रूरत पड़ने पर उसे एडजस्ट करने और हर 12,000 km पूरे करने पर उसे लुब्रिकेट करने की सलाह दी जाती है.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

शॉक एब्सॉर्बर्स खराब होने से क्या होता हैं?

शॉक एब्सॉर्बर, सड़क पर वाहन चलाते समय लगने वाले झटकों से बचाता है. साथ ही, वाहन चलाने के कम्फर्ट और स्टैबिलिटी को भी बढ़ाता है. जब शॉक एब्सॉर्बर खराब हो जाता है, तब आप नोटिस करेंगे कि स्टीयरिंग आपके कंट्रोल में कम रहता है और वाहन चलाते समय आपको ज्यादा झटके लगने लगते हैं. इस वजह से, आपके वाहन के टायर भी जल्दी खराब हो सकते है.
HGP के सुझाए गए सस्पेंशन कंपोनेंट का उपयोग करने से वाहन अच्छी तरह से चलता है, स्टेबल रहता है और लंबे समय तक सुरक्षित राइड प्रदान करता है.
शॉक एब्सॉर्बर ऑयल (फ्रंट) को हर 30,000 km पूरे करने के बाद बदलने की सलाह दी जाती है.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

मुझे केवल HGP बल्ब पर क्यों इस्तेमाल करने चाहिए?

नकली बल्ब (जो बल्ब किसी ब्रांड या कंपनी का न हो) जल्दी खराब हो जाता है, इसकी निशानी यही है कि धीरे-धीरे इसकी रोशनी कम होने लगती है. इसके अलावा, यह बहुत ज्यादा पावर खर्च करता है, जिसकी वजह से बैटरी जल्दी खत्म होने लगती है. इसलिए, आपको हमेशा उचित वॉट के बल्ब लगाने का सुझाव दिया जाता है.
HGP के बल्ब तेज रोशनी देने, लंबी अवधि तक चलने और बिजली की उचित खपत को सुनिश्चित करने के लिए बने हैं, जिससे बैटरी को उचित चार्ज मिलता है और उसकी परफॉर्मेंस बेहतर बनती है.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

क्या मैं नया इंजन ऑयल डालने की बजाये, सिर्फ इंजन ऑयल के खर्च हुए हिस्से को फिर से भर सकता/सकती हूँ?

अगर इंजन ऑयल के सिर्फ खर्च किए हुए हिस्से को दोबारा भरा जाता है, तो नया इंजन ऑयल, इंजन में बचे हुए पुराने इंजन ऑयल के साथ मिल जाता है. हालांकि, इससे इंजन की परफॉर्मेंस को अस्थायी रूप से बहाल किया जा सकता है, लेकिन स्लज और सूट (इंजन पर जमने वाली काले रंग की ग्रीस और गंदगी) इंजन की परफॉर्मेंस को प्रभावित करती है. आपको हमेशा शेड्यूल और टॉप-अप करने के समय के हिसाब से पूरा इंजन ऑयल बदलने की सलाह दी जाती है. साथ ही, इंजन ऑयल के गलत तरीके से खत्म होने की वजह का पता चलते ही, आपको उसे ठीक करने के लिए सही ऐक्शन ले लेने चाहिए, ताकि आपको यह परेशानी बार-बार न झेलनी पड़े.
अधिक सहायता के लिए, कृपया अपने नज़दीकी अधिकृत वर्कशॉप पर जाएं.

मेरे पास एक "गुड लाइफ कार्ड" है. तो मुझे HGP पर क्या लाभ मिल सकते हैं?

सभी गुडलाइफ मेंबर गुडलाइफ इंस्टा कार्ड स्कीम के तहत निम्न स्लैब के अनुसार पार्ट्स पर डिस्काउंट का लाभ उठा सकते हैं:
गोल्ड मेंबर्स (0-5000 पॉइंट्स) - 2% का डिस्काउंट
प्लैटिनम मेंबर्स (5001- 50000 पॉइंट्स) - 3% का डिस्काउंट
डायमंड मेंबर्स (>50000 पॉइंट्स) - 5% का डिस्काउंट
नए पार्ट्स डिस्काउंट स्ट्रक्चर केवल उन कस्टमर्स के लिए मान्य है जिन्होंने अपने नामांकन के दौरान इंस्टा कार्ड प्राप्त किया है. पुराने कस्टमर HGP पर 5% के डिस्काउंट का आनंद लेते रहेंगे.
अपना नज़दीकी टच पॉइंट खोजने के लिए यहां क्लिक करें.

मैं HGP कहां से खरीद सकता/सकती हूं?

कस्टमर की आकांक्षाओं को पूरा करने हेतु, हम वास्तविकताओं को बदलने के लिए कस्टमर टच पॉइंट के पूरे नेटवर्क को लगातार मजबूत कर रहे हैं. HGP को 75 से अधिक भागों के डिस्ट्रीब्यूटरों के द्वारा, 800 अधिकृत डीलरों और 1150 अधिकृत सर्विस सेंटर के व्यापक नेटवर्क के माध्यम से पूरे भारत में और 18 से अधिक देशों में 6000 + टच पॉइंट के माध्यम से डिस्ट्रीब्यूट किया जाता है. अपने नज़दीकी टच पॉइंट खोजने के लिए यहां क्लिक करें.

  • धोखाधड़ी से सावधान रहें
  • धोखाधड़ी और घोटालों के शिकार न बनें
  • अधिक पढ़ें

हीरो या इसके डीलर कभी भी आपका OTP, CVV, कार्ड विवरण या कोई अन्य डिजिटल वॉलेट विवरण नहीं मांगते हैं. इसे किसी के साथ शेयर करने से आपको फाइनेंशियल नुकसान हो सकता है.